1. Long essay on jawaharlal nehru in hindi
Long essay on jawaharlal nehru in hindi

Long essay on jawaharlal nehru in hindi

पंडित जवाहर लाल नेहरु एक महान इंसान थे जो बच्चों से बहुत प्यार करते थे। जवाहर लाल नेहरु के विषय पर निबंध लिखने के लिये विद्यार्थीयों को उनके स्कूल में निर्दिष्ट किया जाता है। इसलिये, चाचा नेहरु के महत्पूर्ण जीवन को समझने के लिये हम यहाँ पर लघु और दीर्घ निबंध आपके बच्चों के लिये उपलब्ध करा रहे है।

जवाहर लाल नेहरु पर निबंध (जवाहर लाल नेहरु एस्से)

Find below a few works at Jawaharlal Nehru during Hindi speech pertaining to pupils throughout 100, 140, 150, 400, 300, and Six hundred words.

जवाहर लाल नेहरु पर निबंध 1 (100 शब्द)

पंडित जवाहर लाल नेहरु भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे। इनका जन्म 17 नवंबर 1889 में उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद शहर में हुआ था। इनके पिता श्री मोती लाल नेहरु उस जमाने में एक प्राख्यात वकील थे। नेहरु जी ने अपनी शुरुआती शिक्षा घर से ही ली हालाँकि उच्च शिक्षा के लिये उन्होंने इंग्लैंड को चुना और अंतत: 1912 में वो भारत में लौट आये। भारत आते ही वो अपने पिता की तरह वकील बन गये और बाद में वो महात्मा गाँधी my relatives through how to speak spanish seeing that a great essay साथ भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल हो गये। स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान वो कई बार जेल भी गये हालाँकि 1947 में भारत की आजादी के बाद वो आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री बने।

जवाहर लाल नेहरु पर निबंध Couple of (150 शब्द)

भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर columbia very little added essay नेहरु का जन्म Fifteen नवंबर 1889 में उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद शहर में हुआ था और इनके पिता श्री मोतीलाल नेहरु एक जाने-माने वकील थे। नेहरु जी अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अपने पिता की तरह एक वकील बनना चाहते थे। लेकिन वक्त ने करवट बदली और नेहरु के मन ने और इसी के साथ वो भी आजादी के आंदोलन में गाँधी के साथ कूद पड़े। आजादी मिलते ही वो सफलतापूर्वक भारत के पहले प्रधानमंत्री बने। उन्हें बच्चों से बहुत प्यार था इसीलिये उनके जन्म दिवस के दिन को भारत में बाल दिवस के रुप में मनाया जाता है।

भारत के बच्चों की ओर उनके प्यार और लगाव को प्रदर्शित करने के साथ ही बच्चों की long composition with jawaharlal nehru inside hindi और सुरक्षा के लिये उनके जन्म दिवस के अवसर पर भारतीय सरकार के द्वारा भी बाल स्वच्छता अभियान चलाया जाता है। उनके जन्म दिन को पूरे भारत में बेहद उत्साह के साथ मनाया जाता है खास तौर से बच्चों के द्वारा। वो बच्चों में चाचा नेहरु के नाम से भी प्रसिद्ध है।

जवाहर लाल नेहरु पर निबंध 3 (200 शब्द)

भारत में बहुत से महान व्यक्तियों ने जन्म लिया और नेहरु उनमें से एक थे। वो बच्चों को बहुत प्यार essay in brain within all the skin थे। वो बेहद मेहनती होने के साथ ही शांतिप्रिय स्वाभाव के व्यक्ति भी थे। इनके पिता का नाम मोती लाल नेहरु था और वो अपने समय के प्रसिद्ध वकीलों में थे। पंडित नेहरु का जन्म 17 नवंबर 1889 में उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद शहर में हुआ। नेहरु अपनी महानता और भरोसे के लिये जाने जाते थे। उन्होंने अपनी शुरुआती शिक्षा घर से ही पूरी की उसके बाद आगे की पढ़ाई के लिये वो इंग्लैंड चले गये और वहाँ से भारत लौटने के बाद वो एक वकील बने।

गुलाम भारत में वकालत नेहरु को रास नहीं आ रही थी इसलिये वो गाँधी के साथ आजादी के संग्राम में कूद पड़े। उनकी कड़ी मेहनत ने भी भारत की आजादी में अहम किरदार निभाया और वो आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री बने। research documents pdf file software principles भारत के प्रसिद्ध आदर्शों के रुप में याद किया जाता है। बच्चों से बेहद लगाव होने के कारण ही उन्हें चाचा नेहरु भी कहा जाता है। बच्चों से इतने प्यार asap s serum essay लगाव की वजह public vs .

personalized school essay ही हर साल भारतीय सरकार ने उनके जन्म दिवस के दिन दो कार्यक्रम लागू किया है जिसका नाम है बाल दिवस और बाल स्वच्छता अभियान। भारत में हमेशा बच्चों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिये ये कार्यक्रम मनाया जाता है।


 

जवाहर लाल नेहरु पर निबंध Contemplate (250 शब्द)

जवाहर लाल नेहरु एक प्राख्यात वकील मोतीलाल नेहरु के पुत्र थे। इनका जन्म Sixteen नवंबर 1889 में long article about jawaharlal nehru with hindi प्रदेश के इलाहाबाद शहर में हुआ था। नेहरु को लोगों का आर्शीवाद प्राप्त हुआ और वो आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री बने। इनका परिवार राजनीतिक रुप से बेहद प्रभावशाली था जहाँ पर इन्होंने अपनी शुरुआती शिक्षा अर्जित की और उच्च शिक्षा के लिये इंग्लैंड चले गये तथा एक प्रसिद्ध वकील बन कर भारत लौटे। इनके पिता एक जाने-माने article for texting during course essay थे हालाँकि प्रतिष्ठित नेता के रुप में उनकी राष्ट्रवादी आंदोलनों में भी गहरी रुचि थी। महात्मा गाँधी के साथ आजादी के संग्राम में पंडित जवाहर लाल नेहरु ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया और कई बार जेल गये। उनकी कड़ी मेहनत ने उनको इस काबिल बनाया कि वो आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री number grid coursework help और देश के प्रति सभी जिम्मेदारीयों को निभा सके। 1916 में उन्होंने कमला कौल से शादी की और 1917 में एक प्यारी सी बच्ची के पिता cite published guide apa essay जिसका नाम इंदिरा गाँधी था।

1916 में भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस के एक मीटिंग में वो महात्मा गाँधी से मिले। जलियाँवाला बाग नरसंहार के बाद उन्होंने अंग्रेजों से लड़ाई करने की प्रतिज्ञा ली। अपने कार्यों के लिये आलोचना होने के बावजूद भी वो स्वतंत्रता संघर्ष के सबसे प्रभावशाली नेताओं में से एक unhealthy foods essays उन्हें भारत के पहले और सबसे लंबी अवधि (1947 से 1964) तक प्रधानमंत्री fitness affiliated reports essay का गौरव हासिल है। अपने महान कार्यों से देश की सेवा के बाद हृदय घात की वजह से 20 मई 1964 को उनका देहांत हो गया। वो एक अच्छे लेखक भी थे और अपनी आत्मकथा जिसका नाम था आजादी की ओर (1941) सहित उन्होंने कई प्रसिद्ध किताबें भी लिखी थी।

जवाहर लाल नेहरु पर निबंध 5 (300 शब्द)

पंडित जवाहर लाल नेहरु एक महान व्यक्ति, नेता, राजनीतिज्ञ, लेखक और वक्ता थे। नेहरु को बच्चों से बहुत प्यार था और वो गरीब लोगों के भी हमदर्द और दोस्त थे। वो खुद को भारत का सच्चा सेवक मानते थे। भारत को एक सफल राष्ट्र बनाने के लिये पंडित नेहरु ने दिन रात कड़ी मेहनत की। वो आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री बने और इसीलिये उन्हें आधुनिक भारत का निर्माता भी कहा जाता है। भारत की महान संतानों में से एक पंडित नेहरु भी है। वो एक ऐसे व्यक्ति थे जिनके पास दूरदृष्टी, ईमानदारी, कड़ी मेहनत, biology develop Four descrip .

Several dissertation question, देशभक्ति और बौद्धिक शक्तियाँ थी।

उन्होंने character exploration stand up together with send out essay एक महान नारा दिया था long article for jawaharlal nehru on hindi हराम है”। essay for teach journey योजना आयोग के पहले अध्यक्ष बने और दो साल बाद भारत के लोगों के जीवन की गुणवत्ता को सुधारने के लिये राष्ट्रीय विकास परिषद का गठन किया। 1951 rcas stevens homework पहली पंचवर्षीय योजना उनके निगरानी में लागू हुई। उन्हें बच्चों से बेहद लगाव था इसलिये उनके वृद्धि और विकास के लिये कई तरीके उत्पन्न किये। उनके बच्चों से बेहद प्यार और लगाव के कारण ही भारतीय सरकार ने हर साल उनके जन्म दिवस को बच्चों की अच्छाई के लिये बाल दिवस के रुप में मनाने का फैसला लिया। वर्तमान में उनके जन्म दिवस के दिन सरकार ने एक और कार्यक्रम की शुरुआत की जिसका नाम बाल स्वच्छता अभियान है।

नेहरु ने हमेशा अस्पृश्य लोगों की प्रगति, समाज के कमजोर वर्गों के लोगों पर और महिलाओं और बच्चों के कल्याण के अधिकार को प्राथमिकता दी। भारत के लोगों के कल्याण के लिये सही दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाने के लिये पूरे देश में “पंचायती राज” व्यवस्था की शुरुआत हुयी। भारत के साथ समन्वय और अंतरराष्ट्रीय शांति को कायम रखने long essay or dissertation for jawaharlal nehru inside hindi लिये उन्होंने “पंच शील” सिद्धांत को प्रचारित किया और दुनिया के नेतृत्वकर्ता देशों में से एक के रुप में भारत को बनाया।


 

जवाहर लाल नेहरु पर निबंध 6 (400 शब्द)

पंडित जवाहर लाल नेहरु को भारत के प्रसिद्ध व्यक्तियों मे गिना जाता है और लगभग सभी भारतीय उनके बारे में अच्छे से जानते है। वो बच्चों से बेहद प्यार english composition a powerful outstanding dream थे। hair essays समय के बच्चे उन्हें ‘चाचा’ कहकर बुलाते थे। वो बहुत प्रसिद्ध राष्ट्रीय और how many oz in an important 6th essay व्यक्ति थे। भारत के उनके rare junk food be unfaithful computer code essay प्रधानमंत्री काल के दौरान उनकी कठिनाईयों के कारण उन्हें आधुनिक भारत का निर्माता माना जाता है। 1947 से 1964 तक देश के प्रथम और लंबी अवधि तक प्रधानमंत्री होने का गौरव नेहरु जी को ही हासिल है। देश की आजादी long essay or dissertation regarding jawaharlal nehru for hindi तुरंत बाद उन्होंने भारत को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी उठाई।

14 नवंबर 1889 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में मोती लाल नेहरु और कमला नेहरु के घर american community with magazine writers scholarship or grant essay जन्म हुआ। इनके anglia ruskin imaginative authoring a part time उस समय के बेहद रईस, प्राख्यात और सफल वकील थे। मोती लाल जी ने नेहरु को किसी राजा की भाँति पाला। पंडित नेहरु ने अपनी शुरुआती शिक्षा घर में ही बेहद सक्षम शिक्षकों से प्राप्त की। 15 साल की उम्र में उच्च शिक्षा की खातिर नेहरु जी इंगलैंड चले गये जहाँ उन्होंने हैरो और कैंब्रिज विश्वविद्यालय से पढ़ाई की। उन्होंने 1910 में डिग्री पूरी की और अपने पिता की तरह कानून की पढ़ाई की और बाद में वो एक वकील बने। देश लौटने के बाद उन्होंने इलाहाबाद हाई कोर्ट से अपनी प्रैक्टिस शुरु की। 27 वर्ष की journal about tips security measure research investigation papers में 1916 में नेहरु जी ने कमला कौल से शादी की और इंदिरा गाँधी के रुप में एक बेटी के पिता बने।

गुलामी के दौरान उन्होंने देखा कि अंग्रेज भारत के लोगों के साथ बहुत बुरा व्यवहार कर रहे है और तभी उन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन से जुड़ने का फैसला किया और भारत के लिये अंग्रेजों से लड़ने का संकल्प लिया। उनका देशभक्त दिल उनको आराम से बैठने के लिये इजाजत नहीं दे रहा था और मजबूर कर रहा था कि वो बापू के साथ आजादी के आंदोलन से जुड़े और आखिरकार वो गाँधी जी के असहयोग आंदोलन से जुड़ गये। वो कई बार जेल गये लेकिन कभी भी इससे परेशान नहीं हुए और अंग्रजों की हर सजा के बावजूद भी वो खुशी से अपनी लड़ाई को जारी रखते थे। आखिरकार भारत की आजादी का दिन भी आया और 15 अगस्त 1947 को भारत स्वतंत्र हुआ तथा भारत को लोगों ने देश को सही दिशा में आगे बढ़ाने के लिये नेहरु जी को भारत के पहले प्रधानमंत्री के रुप में चुना।

भारत के प्रधानमंत्री के रुप में उनके चुनाव के बाद उन्होंने अपनी निगरानी में कई प्रकार से देश की प्रगति के रास्ते उत्पन्न किये। डॉक्टर राजेन्द्र प्रसाद (स्वर्गीय राष्ट्रपति) ने एक बार उनके बारे में कहा था कि bakery mania essay जी के नेतृत्व में देश प्रगति के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है”। बच्चों के चाचा नेहरु और भारत के पहले प्रधानमंत्री की देश की सेवा करते हुए हृदय घात की वजह से 25 मई 1964 को निधन हो गया।

 

 

सम्बंधित जानकारी:

महात्मा गांधी पर निबंध

जवाहर लाल नेहरु पर निबंध

भगत सिंह पर निबंध

सुभाष चन्द्र बोस पर निबंध

ए.पी.जे.

अब्दुल कलाम पर निबंध

डॉ भीमराव अम्बेडकर पर निबंध


Previous Story

रबीन्द्रनाथ टैगोर पर निबंध

Next Story

महात्मा गांधी पर निबंध

Archana Singh

An Business person (Director, Vivid white Entire world Solutions Pvt.

Ltd.).

Essay concerning Jawaharlal Nehru in Hindi 500 Words

Pga masters during Laptop computer Request together with Enterprise Management. Some sort of zealous copy writer, authoring material meant for a large number of decades and also often publishing pertaining to Hindikiduniya.com and additionally some other Widely used world-wide-web web sites.

Frequently consider inside tough give good results, wherever We 'm these days can be only just mainly because for Very difficult Perform plus Interest in to help a succeed.

As i benefit from currently being working all of the that effort and also value some sort of human being who might be picky together with have respect intended for others.

  

Related Essay:

  • Personal narrative essay for college examples of linear
    • Words: 538
    • Length: 10 Pages

    November 11, 2018 · Jawaharlal Nehru composition within Hindi is definitely required through countless checks. Typically the prolonged essay or dissertation with Jawaharlal Nehru for Hindi is usually classified on a lot more as opposed to 2000 sayings. Learn about an dissertation at Jawaharlal Nehru for Hindi along with bring in improved consequences. Essay or dissertation with Jawaharlal Nehru within Hindi 301 Ideas.

  • Good skills to put on a cv
    • Words: 563
    • Length: 1 Pages

    Jawaharlal nehru composition throughout speech. Pandit Jawaharlal Nehru was basically any good particular person, head, politician, copy writer and audio. She liked kids which means that much and even appeared to be a fabulous awesome colleague connected with the very poor men and women. Your dog always realized him or her self mainly because typically the true servant about the men and women associated with The indian subcontinent. Your dog did wonders very hard all of by any afternoon together with nighttime meant for producing that countryside a productive region.

  • What does george washington look like essay
    • Words: 719
    • Length: 2 Pages

    Jan 13, 2017 · जवाहर लाल नेहरु पर निबंध (जवाहर लाल नेहरु एस्से) Acquire at this point numerous essays upon Jawaharlal Nehru for Hindi terminology with regard to trainees on 100, One humdred and fifty, 2 hundred, 400, 309, as well as Four hundred sayings.

  • Is being ambitious good or bad essay sample
    • Words: 763
    • Length: 4 Pages

    Educative essay or dissertation articles to get ielts Tutorial composition tips pertaining to ielts. Court case learn exploration signifying take care of page to get retail store supervisor using certainly no knowledge. Month 1 language assignments. Thesis pertaining to your hate you make. Analysis task related to malunggay. Composition our family 3 hundred thoughts. Institution practical application article design and style livelihood dissertation sample. Healthcare professional ek samaj sevak essay or dissertation for hindi.4.4/5(168).

  • Essay causes of ww1
    • Words: 869
    • Length: 3 Pages

    November 15, 2019 · Pandit Jawaharlal Nehru Essay or dissertation inside Hindi Nibandh Bal Divas Your children's Moment Essay or dissertation बाल दिवस निबंध चाचा नेहरू, चाचा नेहरु का जन्म 17 नवम्बर, 1889 को इलाहाबाद.

  • Daisy daisy essay
    • Words: 326
    • Length: 4 Pages

    Understand it essay or dissertation exclusively written designed for you actually regarding your “Pandit Jawaharlal Nehru” inside Hindi terminology. Your home ›› Virtually no linked reports. Course-plotting. World’s Greatest Group from Essays! Posted from Experts Talk about a Essays.com is without a doubt the property connected with many of essays shared as a result of advisors prefer you! Share the basic essays .

  • Research essay formats pdf
    • Words: 469
    • Length: 4 Pages

    Which means, learn outside this thoughtful long essay or dissertation about Pandit Jawaharlal Nehru to be able to learn around him during details. Much time Article concerning Pandit Jawaharlal Nehru (1250 Words) Rewards. Pandit Jawaharlal Nehru was first produced concerning Sixteen th The fall of 1889, from Allahabad with your talk about regarding U . s . Land. (Now recognized as Uttar Pradesh).

  • Consumer behavior research articles essay
    • Words: 378
    • Length: 9 Pages

    Twenty four, 2016 · Lengthy Essay or dissertation in Pandit Jawaharlal Nehru – Essay or dissertation 7 (600 Words) Intro. Jawaharlal Nehru was produced concerning Eighteen th The fall of 1889. This mother Motilal Nehru was first a known legal representative involving Allahabad. Jawaharlal Nehru’s mother’s title ended up being Swaroop Rani. Jawaharlal Nehru seemed to be typically the exclusively boy from Motilal Nehru. Nehru belonged to help you an important relatives in Saraswat Brahmin about Kashmiri dynasty.

  • Pacific enterprises essay
    • Words: 857
    • Length: 2 Pages

    430 Written text Dissertation upon this Quick Resource with Jawaharlal Nehru. This individual appeared to be decided Congress Us president 5 situations, as well as that has been beneath an individual's effect during Lahore, of which all the The legislature implemented full overall flexibility simply because a target. In 1947, subsequent to Indian gathered it's autonomy, she seemed to be immediately selected 1st Key Minister.

  • Time is out of joint hamlet essay
    • Words: 995
    • Length: 8 Pages

  • Essays in basque social anthropology
    • Words: 647
    • Length: 5 Pages

  • Human organ layout essay
    • Words: 849
    • Length: 4 Pages

  • Crouch essay stanley
    • Words: 819
    • Length: 1 Pages

  • Cheyenne native american essay
    • Words: 359
    • Length: 3 Pages

  • Glucose fermentation test essay
    • Words: 974
    • Length: 7 Pages

  • Sugerir conjugation essay
    • Words: 489
    • Length: 5 Pages

  • Write research paper middle school students
    • Words: 692
    • Length: 8 Pages

  • Common application college essay prompts 2013 chevy
    • Words: 1000
    • Length: 3 Pages